backlinks क्या है और backlinks कैसे बनाएं ?

आज हम बात करेंगे कि backlink क्या है और backlink कैसे बनाएं ? 

साथ ही इसके फायदे , नुकसान और types के ऊपर भी विस्तार से चर्चा करेंगे।

अगर आप blogger है तो backlink से जरूर परिचित होंगे। अगर नही जानते है कि backlink क्या होता है ? 

तो भी परेशान होने की कोई जरूरत नही है । आइये बिना किसी देर के इसपर चर्चा करते हैं,

Backlink kaise banaye , back link kya hai


Backlink क्या है ?

जब कोई website या किसी अन्य source पर हमारे पोस्ट का लिंक दिया जाता है, तो वो हमारे लिए एक तरह का Backlink बन जाता है।

अगर आप quality content लिखते हैं, तो कोई website owner अपनी पोस्ट में आपके लिखे हुए किसी content का जिक्र करता है । 

और आपके website का लिंक attach करता है। बस यही से आपका backlink बन गया

अब जो भी user उस website पर जाएगा और आपके पोस्ट के लिंक पर click कर के आएगा, तो google के algorithms उन्हें detect कर लेंगे और आपकी website की authority google की नजरों में बढ़ जाएगी।


● On page SEO कैसे करें [ on page seo checklist in hindi ]


Backlink के प्रकार | types of backlink


1. Dofollow backlinks

Dofollow backlink सबसे common type का backlink है। और जब कोई हमारे पोस्ट को अपने कंटेंट में डालता है तो वो automaticaly dofollow backlink ही बनता है।

साथ ही हम भी जब किसी वेबसाइट का लिंक अपने content में डालते है तो वह dofollow ही होता है। 

यही वो बैकलिंक है, जिससे हमारी रैंकिंग गूगल के नजरों में बढ़ती है। इस तरह के लिंक में dofollow का tag लगा होता है।

जब कोई इस लिंक पर क्लिक करता है तो एक link juice pass होता है और गूगल के एल्गोरिथ्म इन्हें detect कर लेते है। जिससे हमारी ranking improve होती है।

इस तरह के link को पहचानने के लिए हमे अपने mouse के pointer को लिंक के ऊपर ले जाकर right click करना होता है। बस अब हमें source code में dofollow का tag दिख जाएगा।


Dofollow backlink का use कहाँ करना चाहिये ?

● जब हम किसी  दूसरे website या उसकी post को अपने content में mension करते हैं तब हमें हमेशा  उस लिंक को dofollow रखना चाहिए।

● जब हम अपने ही website के पुराने पोस्ट को अपने नए पोस्ट में mension करते है। यानी कि पोस्ट में internal linking करते हैं तब उस लिंक को हमे dofollow रखना चाहिए।

● किसी दूसरे website पर guest post करते वक्त हमे अपने लिंक को dofollow रखना चाहिए। जिससे हमें इसका फायदा मिल सके और हमारी ranking improve हो।


2. Nofollow backlinks

इस तरह के backlinks में हमे  कोई फायदा नही होता है। क्योंकि इसपर क्लिक करने से कोई link juice पास नही होता है।

जिस वजह से हमारी वेबसाइट की ranking में कोई improvement नही होती। हां इससे आपको visiter जरूर मिलते हैं।

लेकिन वो quality traffic होने के बावजूद भी लिंक जूस पास नही करता है और इसीलिए helpfull link में नही गिना जाता है।

nofollow backlinks में nofollow का tag लगा होता है।

इसे पहचानने के लिए हमे किसी भी लिंक पर mouse के pointer को ले जाकर right click करना होता है, बस लिंक के source code में nofollow का टैग दिख जाएगा।


3 Blogging secrets जिसके बारे में successfull bloggers कभी नही बताते ?


Back links कैसे बनाएं ?


1. Quality content लिखें

मैं हमेशा इस बात पर जोर देता हुँ । अगर आपको blogging में सफल होना है तो regular quality content लिखना जरूरी है।

अगर आप बेहतर informative article लिखेंगे तो बिना किसी मेहनत के आपको dofollow backlinks मिल जाएगी।

इसलिए अपने content को user friendly और engaging बनाएं। जिससे reader's उस article से चिपक जाए।


2. Guest post submit करे

अगर naturaly आपको quality backlinks नही मिल रही है तो चिंता करने की कोई जरूरत नही है। एक trending option आपके पास है। जिसे हम guest posting के नाम से जानते हैं।

Guest post submit करने से पहले हमें अपने niche से related website को find out करना होगा।

ऐसे वेबसाइट का चुनाव करना होगा जिनका domain authority यानी DA और page authority यानी PA अधिक हो।

उसके बाद वेबसाइट owner का contact email ले कर उनसे पूछना होगा कि वे guest post accept करते हैं या नही। बहुत सारे वेबसाइट guest posting accept करते हैं। उनका पता लगाकर list तैयार करें।

एक quality content लिखें और उसमें अपने website के article का internal linking करे और उस वेबसाइट owner से dofollow backlink देने का अनुरोध करें।

बस अब आपका काम बन गया। अगर guest posting site से आपको dofollow backlink मिलती है, तो ये SERP और Moz दोनों में वेबसाइट की ranking को improve करेगा।


3. Blogger outreach का सहारा ले

ब्लॉगिंग इंडस्ट्री बहुत बड़ी है। इसके साथ ही ब्लॉगर्स की भी अपनी एक community है। ऐसे में आपको अपने फील्ड से जुड़े bloggers की छानबीन करनी होगी।

जब आप ऐसे bloggers के बारे में रिसर्च करटे है। तो उनके और उनके साइट के बारे में शार्ट नोट लिखने के साथ EMail ID भी नोट कर लें।

इतना करने के बाद उनकी sites से ऐसे links find करें जो Broken हैं।

उन्हें इस लिंक के बारे में बताए और आपके लिखे हुए article के लिंक को उस broken link के जगह पर डालने के लिए बोले।

इस तरह आप उनकी मदद भी करते हैं। इसलिए अधिकतर cases में वो आपको एक backlink जरुर दे देंगे।

क्योकि broken link को SEO के नजरिये से एक अभिशाप मना जाता है। ऐसे में आपने उन्हें इस के बारे में बताया है। तो निश्चय ही वो आपकी मदद करने के लिए तैयार हो जाएंगे।


● नए वेबसाइट को google में कैसे rank कराये ?


चलते-चलते :

इस article में आपने जाना कि backlink क्या है और बिना अधिक मेहनत या परेशानी के backlinks कैसे बनायें ?

Backlink किसी भी वेबसाइट के रैंकिंग का एक महत्वपूर्ण factor है। इसलिए हमें इसके ऊपर थोड़ा सा ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

हालांकि ऐसे बिलकुल भी नही है, की बिना Backlinks बनाये आप गूगल पर रैंक नही कर सकते।

बिना बैकलिंक के भी google पर आसानी से रैंक किया जा सकता है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां